2022 Status and Shayari for 2022 WhatsApp and Facebook

Latest Status, Shayari Collection for You, This Month's Special Status for Whatsapp.

Wednesday, April 1, 2020

2022 Janmashtami Shayari & Status in Hindi, 2022 जन्माष्टमी की शायरी व स्टेटस हिंदी में

Janmashtami Shayari & Status in Hindi
"गोकुल में जिसने किया निवास,
उसने गोपियों के संग रचा, इतिहास!
देवकी-यशोदा जिनकी मैया,
ऐसे ही हमारे कृषण कन्हैया!
शुभ जन्माष्टमी!"

"आओ मिलकर सजाये नन्दलाल को,
आओ मिलकर करें उनका गुणगान!
जो सबको राह दिखाते हैं,
और सबकी बिगड़ी बनाते हैं!
शुभ जन्माष्टमी!"

"जय श्री कृष्णा!
मंगल, मूहं आपकी कृपा अपरम्पार,
ऐसे श्री कृष्णा जी को, हम सबका नमस्कार!"

"आपको मिले खुशियों के सारे रंग,
जीवन में भर जाये उमंग और तरंग,
ले चलो, हमें भी अपने संग,
हम नटखट है, लेकिन नहीं डालेंगे, आपके रंग में भंग!
जय श्री कृष्णा! शुभ जन्माष्टमी!"

"कृष्णा जिसका नाम है ,
गोकुल जिसका धाम है ,
ऐसे भगवन को हम सब का परनाम है.
कृष्णा जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाये "

"कृषण की महिमा,
कृषण का प्यार कृषण में श्रधा,
कृषण से ही संसार मुबारक हो आप सबको
जन्माष्टमी का त्योहार!"

"नन्द के घर आनंद भयो,
हाथी घोड़ा पालकी,
जय कन्हैया लाल की!
शुभ जन्माष्टमी!"

"देखो फिर जन्माष्टमी आई है,
माखन की हांडी ने फिर मिठास बढ़ाई है,
कान्हा की लीला है सबसे प्यारी
दे आपको वो दुनिया की खुशियां सारी।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!"

"वो मोर मुकुट, वो है नंद लाला,
वो मुरली मनोहर, बृज का ग्वाला,
वो माखन चोर, वो बंसी वाला,
खुशियां मनायें उसके जन्म की, जो है इस जग का रखवाला।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!"

"इस जन्माष्टमी पर
श्रीकृष्ण आपके घर आये और माखन,
मिश्री के साथ आपके
सारे दुःख और कष्ट ले जायें।
शुभ जन्माष्टमी!"

"श्री कृष्ण गोविन्द हरे मुरारी ,
हे नाथ नारायण वासुदेवा ,
एक मात स्वामी सखा हमारे ,
हे नाथ नारायण वासुदेवा..
जय श्री कृष्ण"

"ओ पालन हारे निर्गुण ओ न्यारे…
तुमरे बिन हमरा कउनु नाहीं …
हमारी उलझन सुलझाओ भगवन ..
तुम्हे हमको है संभाले , तुम्ही हमारे रखवाले"

"बाल रूप है सब को भाता
माखन चोर वो कहलाया है,
आला आला गोविंदा आला
बाल ग्वालों ने शोर मचाया है,
झूम उठे हैं सब ख़ुशी में,
देखो मुरली वाला आया है,
कृष्णा जन्माष्टमी की बधाई!"

"माखन का कटोरा मिश्री का थाल
मिटटी की खुशबु बारिश की फुहार
राधा की उम्मीदें कन्हैया का प्यार
मुबारक हो जन्माष्टमी का त्यौहार।"

"चन्दन की खुशबु को रेशम का हार;
सावन की सुगंध और बारिश की फुहार;
राधा की उम्मीद को कन्हैया का प्यार;
मुबारक हो आपको जन्मआष्ट्मी का त्योंहार!
शुभ दिवस जन्माष्टमी!"

"मुरली मनोहर, बृज के धरोहर वो नंद लाल गोपाला हैं,
बंसी की धुन पे सब जग के दुःख हरने वाले नंद लाल गोपाला हैं,
आया है शुभ दिन देखो जन्माष्टमी का फैला चारों ओर उजाला है,
सब के मन में बसने वाले उस बंसी वाले का देखो अंदाज़ ही निराला है।
कृष्ण जन्माष्टमी की सभी को शुभ कामनायें!"

"माखन चुराकर जिसने खाया,
बंसी बजाकर जिसने नचाया,
ख़ुशी मनाओ उसके जन्म की,
जिसने दुनिया को प्रेम सिखाया।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!"

"मेरे तो गिरधर गोपाल दूसरा न है कोई,
जाके सिर मोर मुकुट है हैं मेरे प्रभु सोई।
कृष्ण जन्माष्टमी की शुभ कामनायें!"

"मुरली मनोहर कृष्ण कन्हैया यमुना तट पर विराजे है,
मोर मुकुट पर, कानों में कुंडल कर में मुरलिया साजे है।
हैप्पी जन्माष्टमी!"

"पलकें झुकें, और नमन हो जाए!
 मस्तक झुके, और वंदन हो जाए!
ऐसी नज़र, कंहाँ से लाऊँ, मेरे कन्हैया!
कि आप को याद करूँ, और आपके, दर्शन हो जाए!
जय श्री कृष्णा!"

"बाल रूप है सब को भाता माखन चोर वो कहलाया है,
 आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है,
झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है,
कृष्णा जन्माष्टमी की बधाई!"